मिट्टी के दीपक

मिट्टी के दीये by Dr. A. Bhagwat

mitti ke dipak poem in hindi घर भी मिट्टी के होते हैं!और सपने भी मिट्टी के उनके !जो मिट्टी के दीए बेचने,प्लास्टिक के बाज़ार में

Read More »
love alliance in hindi

प्यार का गठबंधन

भले ही गांठ बांध कर शुरू किए जाते हों रिश्तें! मगर वास्तव में रिश्तों की कोई गांठ नहीं हुआ करती! जिसे खोल कर आज़ाद हुआ

Read More »
शक्ति और सामर्थ्य

शक्ति और सामर्थ्य | नौ दिन, नौ रातें!! और ज़रूरी नौ बातें!!

शक्ति के आगमन से सामर्थ्य आता है!सामर्थ्य के जागरण से शक्ति संचालन! नमस्कार प्यारे दोस्तों,साथियों, एक बेहद रुचिकर विषय के साथ हम बढ़ रहे हैं

Read More »

- OUR QUOTES -

spiritual quotes hindi

Best Spiritual Quotes / Messages in Hindi with Images

प्रार्थनाओं से पहले और प्रार्थनाओं के बाद भी शेष रहता है… वो विश्वाश ही है! वर्च्युल मंच पर ज़ूमी, गुगली दस्तर ख्वान बिछाए रखिए…. बातों

Read More »
love quotes hindi

Love Quotes in Hindi with Images

जब कभी दो लोग सोचने लगें सिर्फ़ एक दूजे के बारे में…. तो उन्हें ख़ुद के बारे में सोचने की कोई गरज़ ही नहीं बचती…अहं

Read More »

Nature Quotes in Hindi with Images

यूं अकेले-अकेले फ़ोटो खिंचवाने का कोई शौक नहीं है मुझको !! क्यों अकेला हूं मैं ? कहाँ गए साथी मेरे ? ये तो पता ही

Read More »
motivational quotes in hindi lifearia

Motivational Quotes in Hindi with Images

आपके घरों में भी चहचहाएंगी, गुनगुनाएंगी, फड़फड़ाएंगी, बतियाएगी, और आपको सुलाकर जागती रहेंगी सिरहाने…. किताबें !! यदि आप उन्हें अलमिरह के पिंजरे में कैद नहीं

Read More »

नज़रिया - ए - लाइफेरिया

मेरे अपनो ,
जब भी मैं देखती हूं आप सभी को तो आप सभी में ख़ुद को पाती हूं और जब कभी ख़ुद को देखती हूं तो आप सभी नज़र आ जाते हैं मुझको ! क्योंकि दरअसल हम सभी एक ही हैं ।हम सभी के दिल बिल्कुल एक से धड़कते हैं । कोई गहरा दुःख ,कोई गम्भीर परेशानी में उतर जाती है हम सभी की शक्लें ….फ़िर किसी ख़ुशी, किसी सुक़ून के लम्हें में बिखर जाती है मुस्कुराहट हम सभी के चेहरों पर…..ताज़्ज़ुब तो बस इस बात का है कि ये कोई नई बात नहीं जो मुझे आपको या आपको मुझे समझानी पड़े….फ़िर भी न जानें क्यों “इंसान” नाम का “समझदार प्राणी” आख़िर समझता क्यों नहीं ! या शायद समझना ही नहीं चाहता !
जबकि ये हुनर तो ऊपरवाले ने हम सभी को बख़्शा ही है कि ग़र रो सकें हम किसी के ग़म में तो दुःखों को हल्का कर दें और यदि ख़ुश हो सकें तो दोगुना कर दे ख़ुशी किसी की !
तो प्यारे साथियों,
“लाइफेरिया” सुक़ून और ख़ूबसूरत एहसासों का एक ऐसा ही अनोखा नुक्कड़ है जहाँ दिली और दिमाग़ी सरगोशियों के संग यक़ीनन ज़िन्दगी मुस्कुराएगी ।
मुझे पूर्ण विश्वास है कि मेरे इस प्रयास में आप सभी का सकारात्मक सहयोग हमेशा की तरह बना रहेगा । और हम सभी रूबरू हो सकेंगे उस सत्य के कि हम सभी की ज़िंदगी में कुछ सकारात्मक इज़ाफ़ा करने के लिए हमेशा ही पैसों की गरज़ नहीं होती । हम अपने भाव-विचार,ज्ञान, बर्ताव, सहानुभूति, प्रेम,समर्पण,स्नेह अपनापन और आपसी समझ से दुनिया को बदल सकते हैं यदि नहीं तो कमसकम ख़ुद को तो बदल ही लेंगे… है न !